विशेष प्रायोजन

शादी ब्याह पाणिग्रहण संस्कार की सामग्री

मानसिक विकास, बाँझपन, यौन क्षमता विकास

प्रसूति के बाद अत्यंत आवश्यक धुनि

मुक़दमे मई विजय, गृह कलह, विवाद शांति यज्ञ

अतिविशेष प्रायोजन

सभी ग्रहो नक्षत्रो की शांति हेतु    वास्तु शांति हेतु

सभी देवी-देवता जैसे नवदुर्गा की जड़ीबूटियां

तंत्र-मंत्र, जादू-टोना, नजर से बचाव (आत्मरक्षाकारी)

मैडिटेशन ध्यान, पूजा-पाठ