30 साल का विस्तृत शोध पौधरोपण, वनस्पति और यज्ञ का प्रभाव पारिस्थितिकी और मानवता पर। धूप,यज्ञ,हवन के संदर्भ में 5000 पंडितो  के साथ साक्षात्कार और गाय संरक्षण, संवर्धन पर सतत् कार्य। 70 लाख पोधे  लगाए और 1 करोड़ से अधिक पोधारोपण की प्रक्रिया जारी । धूप, यज्ञ, हवन की 108 प्रकार की सामग्री के लिए गोल्डन बुक वल्र्ड रिकॉर्ड प्राप्त।देवाश्रय कम्पनी की प्रमोटर डॉ. सुषमा की शिक्षा एम.कॉम., एल.एल.बी., एक्युप्रेशर, यज्ञ¨पैथी, एरोमाथैरेपी  एवं अल्टरनेटिव मेडिसिन हैं। उन्होने उक्त विषयो  पर निरंतर अनुसंधान तथा अनुभवी निपुण आयुर्वेदाचायरो  द्वारा प्रमाणित करने के उपरान्त गौरीष धूप यज्ञ हवन एवं कंडा सामग्री का निर्माण किया गया। जो  हमारी विज्ञान सम्मत वैदिक ऋषि परम्परा, आस्थआ, मान्यता एवं निरोगी जीवन जीने की पद्धति के अनुसार है।

हमारा लक्ष्य : सही, शुद्ध, असली, बिना तेल निकली, धूप,यज्ञ, हवन सामग्री का निर्माण।

हमारा उद्देश्य 

मिशन : हमारा मिशन अधिक से अधिक धूप यज्ञ हवन में प्रयोग होने वाली सामग्री के यज्ञीय पेड़-पोधो  को  सम्पूर्ण भारत में लगवाना एवं विलुप्त होती प्रजातियो का संरक्षण एवं संवर्धन। सभी पंडित एवं धूप यज्ञ हवन करने वाले  व्यक्तियो  को  जागरूक बनाना ताकि वे प्रदुषण  से रोग मुक्त रहें। साथ ही गाय पालन, संवर्धन पर सतत कार्य करना।

द्रष्टिकोण : यज्ञीय देश  में यज्ञीय वातावरण निर्मित हो प्रदुषण  मुक्त है , विष्व में स्वस्थ वातावरण का निर्माण। पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन।